मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को प्रो. अतुल जोशी ने अपनी सम्पादित पुस्तक ’’भारतीय हिमालय क्षेत्र से पलायनः चुनौतियां एवं समाधान’’ भेंट की

0
78
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को रविवार को  प्रो. अतुल जोशी ने अपनी सम्पादित पुस्तक ’’भारतीय हिमालय क्षेत्र से पलायनः चुनौतियां एवं समाधान’’ भेंट की।  इस पुस्तक में विद्वानों एवं शोधकर्ताओं द्वारा लिखे गये विभिन्न लेख हैं। उन्होंने कहा कि इस पुस्तक की समीक्षा सूचना महानिदेशक द्वारा की गई है।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्रों से पलायन को रोकने के लिए राज्य सरकार प्रयासरत हैं। पर्वतीय क्षेत्रों में स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा दिया जा रहा है। महिला स्वयं सहायता समूहों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर 05 लाख रूपये का लोन व कृषकों को भी एक लाख रूपये तक का ऋण शून्य प्रतिशत ब्याज पर दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों  में शोध कर रहे शोद्यार्थियों व पीजी के विद्यार्थियों के माध्यम से प्रत्येक ब्लाॅकों के गांवों में जाकर गांवों के विकास के लिए कार्ययोजना बनायेंगे। विश्वविद्यालयों के कुलपतियों का भी इस ओर ध्यान आकृष्ट किया जा रहा है।
कुमाँऊ में निदेशक आई.पी.एस. डी. आर प्रो० अतुल जोशी ने बताया कि 19 एवं 20 नवंबर 2018 को कुमाऊं विश्वविद्यालय एवं हिमालयन एजुकेशनल रिसर्च एंड डवलपमेंट सोसायटी के संयुक्त तत्वावधान में ’’भारतीय हिमालय क्षेत्र से पलायनः चुनौतियां एवं समाधान’’ विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार भी आयोजित किया गया था। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में उत्तराखंड पलायन आयोग के उपाध्यक्ष डा० एस० एस० नेगी उपस्थित थे। प्रो० अतुल जोशी ने बताया कि यह शोध पुस्तक हिमालय क्षेत्र प्रमुख रूप से उत्तराखंड क्षेत्र में पलायन के कारणों को समझने और उनके निराकरण हेतु मील का पत्थर साबित होगी।
मुख्यमंत्री ने कुमाऊं विश्वविद्यालय द्वारा ग्रामीण प्रबंधन एवं उद्यमिता विकास पर चलाये जा रहे एमबीए पाठ्यक्रम की सराहना की। उन्होंने कहा कि इस पाठ्यक्रम में अध्ययनरत विद्यार्थी जिन्होंने उत्तराखंड के 28 गांवों को उद्यमिता विकास के तहत गोद लिया है, यह एक सराहनीय कदम है।
इस अवसर पर  मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, हर्डस के अध्यक्ष के० के० पाण्डेय् व सुरेश जोशी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here